14 मई 2009

मम्मी भोत दन्दी है.......

हाय, मैं फिल आ गया। लेकिन एक छिकायत कलनी है आपछे। अभी अभी छोकल उथा हूँ औल मम्मी ने दांत दिया। तहने लदीं तुमने बिछ्तल पल छूछू कल दी। अले, दे कोई दान्तने वाली बात हुयी। मैं तो लोज बिछ्तल पल ही छूछू कलता हूँ। पैले कुछ नईं कैती थीं औल अब दांत लदाती लैती हैं। आप ही बताओ क्या बिछ्तल पल छूछू कलना दन्दी बात है? मम्मी भोत दन्दी है। वैछे मुधे तो बिछ्तल पल छूछू कलना भोत अच्छा लत्ता है। आपको भी लत्ता है क्या????

3 टिप्‍पणियां:

  1. ना ना राजा बेटा.. तुम तो अपना काम करो.. मम्मी अपना..

    मम्मी को बोलो बस थोडे़ समय की बार और है फिर शु शु नहीं करोगे..

    वैसे आदि शु शु करने से पहले रोता है.. तो फिर हम जल्दी से उसे बाथरुम में ले जाते है.. तुम भी कुछ hint दिया करो मम्मी पापा को प्यारे..

    प्यार.... नहीं.. प्याल..

    उत्तर देंहटाएं
  2. आदि से यहां मिल सकते हो..
    http://aadityaranjan.blogspot.com

    देखो आज नहा रहा है..

    उत्तर देंहटाएं
  3. नहीं मेरे मुन्ने, मम्मा को बोलो कि बस एक काम करे। तुमसे दिन में दस बार सवाल पूछे कि शू शू कहां करते हैं। तुम जबाब देना ट्वायलेट में। फिर धीरे-धीरे देखना जब तुम बिस्तर को गीला देखोगे तो मम्मा फिर पूछेगी- शू शू कहां करते हैं और तुम कहोगे-सॉरी मम्मा। तब मम्मा को दन्दी बोलना छोड़ दोगे और बिस्तर पर शू शू करना भी।

    उत्तर देंहटाएं